Skip to main content
bismillah
ٱلْقَارِعَةُ
खटखटाने वाली

Alqari'atu

वह खड़खड़ानेवाली!

Tafseer (तफ़सीर )
مَا
क्या है वो
ٱلْقَارِعَةُ
खटखटाने वाली

Ma alqari'atu

क्या है वह खड़खड़ानेवाली?

Tafseer (तफ़सीर )
وَمَآ
और क्या चीज़
أَدْرَىٰكَ
बताए आपको
مَا
कि क्या है वो
ٱلْقَارِعَةُ
खटखटाने वाली

Wama adraka ma alqari'atu

और तुम्हें क्या मालूम कि क्या है वह खड़खड़ानेवाली?

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَ
जिस दिन
يَكُونُ
हो जाऐंगे
ٱلنَّاسُ
लोग
كَٱلْفَرَاشِ
परवानों की तरह
ٱلْمَبْثُوثِ
बिखरे हुए

Yawma yakoonu alnnasu kaalfarashi almabthoothi

जिस दिन लोग बिखरे हुए पतंगों के सदृश हो जाएँगें,

Tafseer (तफ़सीर )
وَتَكُونُ
और हो जाऐंगे
ٱلْجِبَالُ
पहाड़
كَٱلْعِهْنِ
रंगीन रूई की तरह
ٱلْمَنفُوشِ
धुनकी हुई

Watakoonu aljibalu kaal'ihni almanfooshi

और पहाड़ के धुन के हुए रंग-बिरंग के ऊन जैसे हो जाएँगे

Tafseer (तफ़सीर )
فَأَمَّا
तो रहा
مَن
वो जो
ثَقُلَتْ
भारी हुए
مَوَٰزِينُهُۥ
पलड़े उसके

Faamma man thaqulat mawazeenuhu

फिर जिस किसी के वज़न भारी होंगे,

Tafseer (तफ़सीर )
فَهُوَ
तो वो
فِى
ज़िन्दगी में होगा
عِيشَةٍ
ज़िन्दगी में होगा
رَّاضِيَةٍ
पसंदीदा

Fahuwa fee 'eeshatin radiyatin

वह मनभाते जीवन में रहेगा

Tafseer (तफ़सीर )
وَأَمَّا
और रहा
مَنْ
वो जो
خَفَّتْ
हल्के हुए
مَوَٰزِينُهُۥ
पलड़े उसके

Waamma man khaffat mawazeenuhu

और रहा वह व्यक्ति जिसके वज़न हलके होंगे,

Tafseer (तफ़सीर )
فَأُمُّهُۥ
तो उसी माँ(ठिकाना)
هَاوِيَةٌ
हाविया(जहन्नम)होगी

Faommuhu hawiyatun

उसकी माँ होगी गहरा खड्ड

Tafseer (तफ़सीर )
وَمَآ
और क्या चीज़
أَدْرَىٰكَ
बताए आपको
مَا
क्या है वो
هِيَهْ
क्या है वो

Wama adraka ma hiyah

और तुम्हें क्या मालूम कि वह क्या है?

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-क़ारिअह
القرآن الكريم:القارعة
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Al-Qari'ah
सूरा:101
कुल आयत:11
कुल शब्द:36
कुल वर्ण:152
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:30
से शुरू आयत:6157