Skip to main content
bismillah
أَلْهَىٰكُمُ
गाफ़िल कर दिया तुम्हें
ٱلتَّكَاثُرُ
कसरत की तलब ने

Alhakumu alttakathuru

तुम्हें एक-दूसरे के मुक़ाबले में बहुतायत के प्रदर्शन और घमंड ने ग़फ़़लत में डाल रखा है,

Tafseer (तफ़सीर )
حَتَّىٰ
यहाँ तक कि
زُرْتُمُ
जा पहुँचे तुम
ٱلْمَقَابِرَ
क़ब्रों मे

Hatta zurtumu almaqabira

यहाँ तक कि तुम क़ब्रिस्तानों में पहुँच गए

Tafseer (तफ़सीर )
كَلَّا
हरगिज़ नहीं
سَوْفَ
अनक़रीब
تَعْلَمُونَ
तुम जान लोगे

Kalla sawfa ta'lamoona

कुछ नहीं, तुम शीघ्र ही जान लोगे

Tafseer (तफ़सीर )
ثُمَّ
फिर
كَلَّا
हरगिज़ नहीं
سَوْفَ
अनक़रीब
تَعْلَمُونَ
तुम जान लोगे

Thumma kalla sawfa ta'lamoona

फिर, कुछ नहीं, तुम्हें शीघ्र ही मालूम हो जाएगा -

Tafseer (तफ़सीर )
كَلَّا
हरगिज़ नहीं
لَوْ
काश
تَعْلَمُونَ
तुम जान लेते
عِلْمَ
जानना
ٱلْيَقِينِ
यक़ीन का

Kalla law ta'lamoona 'ilma alyaqeeni

कुछ नहीं, अगर तुम विश्वसनीय ज्ञान के रूप में जान लो! (तो तुम धन-दौलत के पुजारी न बनो) -

Tafseer (तफ़सीर )
لَتَرَوُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर देखोगे
ٱلْجَحِيمَ
जहन्नम को

Latarawunna aljaheema

अवश्य ही तुम भड़कती आग से दो-चार होगे

Tafseer (तफ़सीर )
ثُمَّ
फिर
لَتَرَوُنَّهَا
अलबत्ता तुम ज़रूर देखोगे उसे
عَيْنَ
आँख से
ٱلْيَقِينِ
यक़ीन की

Thumma latarawunnaha 'ayna alyaqeeni

फिर सुनो, उसे अवश्य देखोगे इस दशा में कि वह यथावत विश्वास होगा

Tafseer (तफ़सीर )
ثُمَّ
फिर
لَتُسْـَٔلُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर पूछे जाओगे
يَوْمَئِذٍ
उस दिन
عَنِ
नेअमतों के बारे में
ٱلنَّعِيمِ
नेअमतों के बारे में

Thumma latusalunna yawmaithin 'ani alnna'eemi

फिर निश्चय ही उस दिन तुमसे नेमतों के बारे में पूछा जाएगा

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अत-तकासुर
القرآن الكريم:التكاثر
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):At-Takasur
सूरा:102
कुल आयत:8
कुल शब्द:28
कुल वर्ण:120
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:16
से शुरू आयत:6168