Skip to main content
bismillah
إِذَا
जब
زُلْزِلَتِ
हिला दी जाएगी
ٱلْأَرْضُ
ज़मीन
زِلْزَالَهَا
हिला दिया जाना उसका

Itha zulzilati alardu zilzalaha

जब धरती इस प्रकार हिला डाली जाएगी जैसा उसे हिलाया जाना है,

Tafseer (तफ़सीर )
وَأَخْرَجَتِ
और निकालेगी
ٱلْأَرْضُ
ज़मीन
أَثْقَالَهَا
बोझ अपने

Waakhrajati alardu athqalaha

और धरती अपने बोझ बाहर निकाल देगी,

Tafseer (तफ़सीर )
وَقَالَ
और कहेगा
ٱلْإِنسَٰنُ
इन्सान
مَا
क्या है
لَهَا
इसको

Waqala alinsanu ma laha

और मनुष्य कहेगा, 'उसे क्या हो गया है?'

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَئِذٍ
उस दिन
تُحَدِّثُ
वो बयान करेगी
أَخْبَارَهَا
ख़बरें अपनी

Yawmaithin tuhaddithu akhbaraha

उस दिन वह अपना वृत्तांत सुनाएगी,

Tafseer (तफ़सीर )
بِأَنَّ
क्योंकि
رَبَّكَ
आपके रब ने
أَوْحَىٰ
वही की
لَهَا
उसे

Bianna rabbaka awha laha

इस कारण कि तुम्हारे रब ने उसे यही संकेत किया होगा

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَئِذٍ
उस दिन
يَصْدُرُ
लौटेंगे
ٱلنَّاسُ
लोग
أَشْتَاتًا
अलग-अलग हो कर
لِّيُرَوْا۟
ताकि वो दिखाए जाऐं
أَعْمَٰلَهُمْ
आमाल अपने

Yawmaithin yasduru alnnasu ashtatan liyuraw a'malahum

उस दिन लोग अलग-अलग निकलेंगे, ताकि उन्हें कर्म दिखाए जाएँ

Tafseer (तफ़सीर )
فَمَن
तो जो कोई
يَعْمَلْ
अमल करेगा
مِثْقَالَ
वज़न बराबर
ذَرَّةٍ
ज़र्रे के
خَيْرًا
भलाई के
يَرَهُۥ
वो देख लेगा उसे

Faman ya'mal mithqala tharratin khayran yarahu

अतः जो कोई कणभर भी नेकी करेगा, वह उसे देख लेगा,

Tafseer (तफ़सीर )
وَمَن
और जो कोई
يَعْمَلْ
अमल करेगा
مِثْقَالَ
वज़न बराबर
ذَرَّةٍ
ज़र्रे के
شَرًّا
बुराई के
يَرَهُۥ
वो देख लेगा उसे

Waman ya'mal mithqala tharratin sharran yarahu

और जो कोई कणभर भी बुराई करेगा, वह भी उसे देख लेगा

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अज़-ज़ल्ज़ला
القرآن الكريم:الزلزلة
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Az-Zalzalah
सूरा:99
कुल आयत:8
कुल शब्द:35
कुल वर्ण:194
रुकु:1
वर्गीकरण:मदीनन सूरा
Revelation Order:93
से शुरू आयत:6138