Skip to main content
bismillah
ٱقْرَأْ
पढ़िए
بِٱسْمِ
नाम से
رَبِّكَ
अपने रब के
ٱلَّذِى
वो जिसने
خَلَقَ
पैदा किया

Iqra biismi rabbika allathee khalaqa

पढ़ो, अपने रब के नाम के साथ जिसने पैदा किया,

Tafseer (तफ़सीर )
خَلَقَ
उसने पैदा किया
ٱلْإِنسَٰنَ
इन्सान को
مِنْ
जमे हुए ख़ून से
عَلَقٍ
जमे हुए ख़ून से

Khalaqa alinsana min 'alaqin

पैदा किया मनुष्य को जमे हुए ख़ून के एक लोथड़े से

Tafseer (तफ़सीर )
ٱقْرَأْ
पढ़िए
وَرَبُّكَ
और रब आपका
ٱلْأَكْرَمُ
सब से ज़्यादा करम वाला है

Iqra warabbuka alakramu

पढ़ो, हाल यह है कि तुम्हारा रब बड़ा ही उदार है,

Tafseer (तफ़सीर )
ٱلَّذِى
वो जिसने
عَلَّمَ
सिखाया
بِٱلْقَلَمِ
साथ क़लम के

Allathee 'allama bialqalami

जिसने क़लम के द्वारा शिक्षा दी,

Tafseer (तफ़सीर )
عَلَّمَ
उसने सिखाया
ٱلْإِنسَٰنَ
इन्सान को
مَا
जो
لَمْ
नहीं
يَعْلَمْ
वो जानता था

'allama alinsana ma lam ya'lam

मनुष्य को वह ज्ञान प्रदान किया जिस वह न जानता था

Tafseer (तफ़सीर )
كَلَّآ
हरगिज़ नहीं
إِنَّ
बेशक
ٱلْإِنسَٰنَ
इन्सान
لَيَطْغَىٰٓ
अलबत्ता सरकशी करता है

Kalla inna alinsana layatgha

कदापि नहीं, मनुष्य सरकशी करता है,

Tafseer (तफ़सीर )
أَن
कि
رَّءَاهُ
वो देखता है ख़ुद को
ٱسْتَغْنَىٰٓ
बेनियाज़

An raahu istaghna

इसलिए कि वह अपने आपको आत्मनिर्भर देखता है

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
إِلَىٰ
तरफ़ आपके रब के
رَبِّكَ
तरफ़ आपके रब के
ٱلرُّجْعَىٰٓ
पलटना है

Inna ila rabbika alrruj'a

निश्चय ही तुम्हारे रब ही की ओर पलटना है

Tafseer (तफ़सीर )
أَرَءَيْتَ
क्या देखा आपने
ٱلَّذِى
उस शख़्स को जो
يَنْهَىٰ
रोकता है

Araayta allathee yanha

क्या तुमने देखा उस व्यक्ति को

Tafseer (तफ़सीर )
عَبْدًا
एक बन्दे को
إِذَا
जब
صَلَّىٰٓ
वो नमाज़ पढ़ता है

'abdan itha salla

जो एक बन्दे को रोकता है, जब वह नमाज़ अदा करता है? -

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-अलक
القرآن الكريم:العلق
आयत सजदा (سجدة):19
सूरा (latin):Al-'Alaq
सूरा:96
कुल आयत:19
कुल शब्द:92
कुल वर्ण:280
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:1
से शुरू आयत:6106