Skip to main content
bismillah
يُسَبِّحُ
तस्बीह करती है
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए
مَا
हर वो चीज़ जो
فِى
आसमानों में है
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में है
وَمَا
और जो
فِى
ज़मीन में है
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में है
ٱلْمَلِكِ
जो बादशाह है
ٱلْقُدُّوسِ
निहायत पाकीज़ा है
ٱلْعَزِيزِ
बहुत ज़बरदस्त है
ٱلْحَكِيمِ
ख़ूब हिकमत वाला है

Yusabbihu lillahi ma fee alssamawati wama fee alardi almaliki alquddoosi al'azeezi alhakeemi

अल्लाह की तसबीह कर रही है हर वह चीज़ जो आकाशों में है और जो धरती में है, जो सम्राट है, अत्यन्त पवित्र, प्रभुत्वशाली तत्वदर्शी

Tafseer (तफ़सीर )
هُوَ
वो ही है
ٱلَّذِى
जिसने
بَعَثَ
भेजा
فِى
अनपढ़ लोगों में
ٱلْأُمِّيِّۦنَ
अनपढ़ लोगों में
رَسُولًا
एक रसूल
مِّنْهُمْ
उन्हीं में से
يَتْلُوا۟
जो तिलावत करता है
عَلَيْهِمْ
उन पर
ءَايَٰتِهِۦ
उसकी आयात
وَيُزَكِّيهِمْ
और वो तज़किया करता है उनका
وَيُعَلِّمُهُمُ
और वो सिखाता है उन्हें
ٱلْكِتَٰبَ
किताब
وَٱلْحِكْمَةَ
और हिकमत
وَإِن
और बेशक
كَانُوا۟
थे वो
مِن
इससे पहले
قَبْلُ
इससे पहले
لَفِى
अलबत्ता गुमराही में
ضَلَٰلٍ
अलबत्ता गुमराही में
مُّبِينٍ
खुली

Huwa allathee ba'atha fee alommiyyeena rasoolan minhum yatloo 'alayhim ayatihi wayuzakkeehim wayu'allimuhumu alkitaba waalhikmata wain kanoo min qablu lafee dalalin mubeenin

वही है जिसने उम्मियों में उन्हीं में से एक रसूल उठाया जो उन्हें उसकी आयतें पढ़कर सुनाता है, उन्हें निखारता है और उन्हें किताब और हिकमत (तत्वदर्शिता) की शिक्षा देता है, यद्यपि इससे पहले तो वे खुली हुई गुमराही में पड़े हुए थे, -

Tafseer (तफ़सीर )
وَءَاخَرِينَ
और दूसरों (के लिए भी )
مِنْهُمْ
उनमें से
لَمَّا
जो अभी तक नहीं
يَلْحَقُوا۟
वो मिले
بِهِمْۚ
उनसे
وَهُوَ
और वो
ٱلْعَزِيزُ
बहुत ज़बरदस्त है
ٱلْحَكِيمُ
ख़ूब हिकमत वाला है

Waakhareena minhum lamma yalhaqoo bihim wahuwa al'azeezu alhakeemu

और उन दूसरे लोगों को भी (किताब और हिकमत की शिक्षा दे) जो अभी उनसे मिले नहीं है, वे उन्हीं में से होंगे। और वही प्रभुत्वशाली, तत्वशाली है

Tafseer (तफ़सीर )
ذَٰلِكَ
ये
فَضْلُ
फ़ज़ल है
ٱللَّهِ
अल्लाह का
يُؤْتِيهِ
वो देता है उसको
مَن
जिसे
يَشَآءُۚ
वो चाहता है
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
ذُو
फ़ज़ल वाला है
ٱلْفَضْلِ
फ़ज़ल वाला है
ٱلْعَظِيمِ
बहुत बड़े

Thalika fadlu Allahi yuteehi man yashao waAllahu thoo alfadli al'atheemi

यह अल्लाह का उदार अनुग्रह है, जिसको चाहता है उसे प्रदान करता है। अल्लाह बड़े अनुग्रह का मालिक है

Tafseer (तफ़सीर )
مَثَلُ
मिसाल
ٱلَّذِينَ
उनकी जो
حُمِّلُوا۟
उठवाए गए
ٱلتَّوْرَىٰةَ
तौरात
ثُمَّ
फिर
لَمْ
नहीं
يَحْمِلُوهَا
उन्होंने उठाया उसे
كَمَثَلِ
मानिन्द मिसाल
ٱلْحِمَارِ
गधे की
يَحْمِلُ
जो उठाता है
أَسْفَارًۢاۚ
किताबें
بِئْسَ
कितनी बुरी है
مَثَلُ
मिसाल
ٱلْقَوْمِ
उन लोगों की
ٱلَّذِينَ
जिन्होंने
كَذَّبُوا۟
झुठलाया
بِـَٔايَٰتِ
अल्लाह की आयात को
ٱللَّهِۚ
अल्लाह की आयात को
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
لَا
नहीं वो हिदायत देता
يَهْدِى
नहीं वो हिदायत देता
ٱلْقَوْمَ
उन लोगों को
ٱلظَّٰلِمِينَ
जो ज़ालिम हैं

Mathalu allatheena hummiloo alttawrata thumma lam yahmilooha kamathali alhimari yahmilu asfaran bisa mathalu alqawmi allatheena kaththaboo biayati Allahi waAllahu la yahdee alqawma alththalimeena

जिन लोगों पर तारात का बोझ डाला गया, किन्तु उन्होंने उसे न उठाया, उनकी मिसाल उस गधे की-सी है जो किताबे लादे हुए हो। बहुत ही बुरी मिसाल है उन लोगों की जिन्होंने अल्लाह की आयतों को झुठला दिया। अल्लाह ज़ालिमों को सीधा मार्ग नहीं दिखाया करता

Tafseer (तफ़सीर )
قُلْ
कह दीजिए
يَٰٓأَيُّهَا
ऐ लोगो जो
ٱلَّذِينَ
ऐ लोगो जो
هَادُوٓا۟
यहूदी बन गए हो
إِن
अगर
زَعَمْتُمْ
तुम ज़अम / गुमान करते हो
أَنَّكُمْ
बेशक तुम
أَوْلِيَآءُ
दोस्त हो
لِلَّهِ
अल्लाह के
مِن
सिवाए
دُونِ
सिवाए
ٱلنَّاسِ
लोगों के
فَتَمَنَّوُا۟
पस तुम तमन्ना करो
ٱلْمَوْتَ
मौत की
إِن
अगर
كُنتُمْ
हो तुम
صَٰدِقِينَ
सच्चे

Qul ya ayyuha allatheena hadoo in za'amtum annakum awliyao lillahi min dooni alnnasi fatamannawoo almawta in kuntum sadiqeena

कह दो, 'ऐ लोगों, जो यहूदी हुए हो! यदि तुम्हें यह गुमान है कि सारे मनुष्यों को छोड़कर तुम ही अल्लाह के प्रेमपात्र हो तो मृत्यु की कामना करो, यदि तुम सच्चे हो।'

Tafseer (तफ़सीर )
وَلَا
और नहीं
يَتَمَنَّوْنَهُۥٓ
वो तमन्ना करेंगे उसकी
أَبَدًۢا
कभी भी
بِمَا
बवजह उसके जो
قَدَّمَتْ
आगे भेजा
أَيْدِيهِمْۚ
उनके हाथों ने
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
عَلِيمٌۢ
ख़ूब जानने वाला है
بِٱلظَّٰلِمِينَ
ज़ालिमों को

Wala yatamannawnahu abadan bima qaddamat aydeehim waAllahu 'aleemun bialththalimeena

किन्तु वे कभी भी उसकी कामना करेंगे, उस (कर्म) के कारण जो उनके हाथों ने आगे भेजा है। अल्लाह ज़ालिमों को भली-भाँति जानता है

Tafseer (तफ़सीर )
قُلْ
कह दीजिए
إِنَّ
बेशक
ٱلْمَوْتَ
मौत
ٱلَّذِى
वो जो
تَفِرُّونَ
तुम भागते हो
مِنْهُ
उससे
فَإِنَّهُۥ
तो बेशक वो
مُلَٰقِيكُمْۖ
मिलने वाली है तुमसे
ثُمَّ
फिर
تُرَدُّونَ
तुम लौटाए जाओगे
إِلَىٰ
तरफ़ जानने वाले
عَٰلِمِ
तरफ़ जानने वाले
ٱلْغَيْبِ
ग़ैब के
وَٱلشَّهَٰدَةِ
और हाज़िर के
فَيُنَبِّئُكُم
फिर वो बता देगा तुम्हें
بِمَا
वो जो
كُنتُمْ
थे तुम
تَعْمَلُونَ
तुम अमल करते

Qul inna almawta allathee tafirroona minhu fainnahu mulaqeekum thumma turaddoona ila 'alimi alghaybi waalshshahadati fayunabbiokum bima kuntum ta'maloona

कह दो, 'मृत्यु जिससे तुम भागते हो, वह तो तुम्हें मिलकर रहेगी, फिर तुम उसकी ओर लौटाए जाओगे जो छिपे और खुले का जाननेवाला है। और वह तुम्हें उससे अवगत करा देगा जो कुछ तुम करते रहे होगे।' -

Tafseer (तफ़सीर )
يَٰٓأَيُّهَا
ऐ लोगो जो
ٱلَّذِينَ
ऐ लोगो जो
ءَامَنُوٓا۟
ईमान लाए हो
إِذَا
जब
نُودِىَ
पुकारा जाए
لِلصَّلَوٰةِ
नमाज़ के लिए
مِن
दिन
يَوْمِ
दिन
ٱلْجُمُعَةِ
जुमा के
فَٱسْعَوْا۟
तो दौड़ो
إِلَىٰ
तरफ़ अल्लाह के ज़िक्र के
ذِكْرِ
तरफ़ अल्लाह के ज़िक्र के
ٱللَّهِ
तरफ़ अल्लाह के ज़िक्र के
وَذَرُوا۟
और छोड़ दो
ٱلْبَيْعَۚ
ख़रीद व फ़रोख़्त
ذَٰلِكُمْ
ये
خَيْرٌ
बेहतर है
لَّكُمْ
तुम्हारे लिए
إِن
अगर
كُنتُمْ
हो तुम
تَعْلَمُونَ
तुम इल्म रखते

Ya ayyuha allatheena amanoo itha noodiya lilssalati min yawmi aljumu'ati fais'aw ila thikri Allahi watharoo albay'a thalikum khayrun lakum in kuntum ta'lamoona

ऐ ईमान लानेवालो, जब जुमा के दिन नमाज़ के लिए पुकारा जाए तो अल्लाह की याद की ओर दौड़ पड़ो और क्रय-विक्रय छोड़ दो। यह तुम्हारे लिए अच्छा है, यदि तुम जानो

Tafseer (तफ़सीर )
فَإِذَا
फिर जब
قُضِيَتِ
पूरी हो जाए
ٱلصَّلَوٰةُ
नमाज़
فَٱنتَشِرُوا۟
तो फैल जाओ
فِى
ज़मीन में
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
وَٱبْتَغُوا۟
और तलाश करो
مِن
अल्लाह के फ़ज़ल में से
فَضْلِ
अल्लाह के फ़ज़ल में से
ٱللَّهِ
अल्लाह के फ़ज़ल में से
وَٱذْكُرُوا۟
और ज़िक्र करो
ٱللَّهَ
अल्लाह का
كَثِيرًا
कसरत से
لَّعَلَّكُمْ
ताकि तुम
تُفْلِحُونَ
तुम फ़लाह पा जाओ

Faitha qudiyati alssalatu faintashiroo fee alardi waibtaghoo min fadli Allahi waothkuroo Allaha katheeran la'allakum tuflihoona

फिर जब नमाज़ पूरी हो जाए तो धरती में फैल जाओ और अल्लाह का उदार अनुग्रह (रोजी) तलाश करो, और अल्लाह को बहुत ज़्यादा याद करते रहो, ताकि तुम सफल हो। -

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-जुमाअ
القرآن الكريم:الجمعة
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Al-Jumu'ah
सूरा:62
कुल आयत:11
कुल शब्द:130
कुल वर्ण:720
रुकु:2
वर्गीकरण:मदीनन सूरा
Revelation Order:110
से शुरू आयत:5177