Skip to main content
bismillah
يَٰٓأَيُّهَا
ٱلنَّاسُ
लोगो
ٱتَّقُوا۟
डरो
رَبَّكُمْۚ
अपने रब से
إِنَّ
बेशक
زَلْزَلَةَ
ज़लज़ला
ٱلسَّاعَةِ
क़यामत का
شَىْءٌ
चीज़ है
عَظِيمٌ
बहुत बड़ी

Ya ayyuha alnnasu ittaqoo rabbakum inna zalzalata alssa'ati shayon 'atheemun

ऐ लोगो! अपने रब का डर रखो! निश्चय ही क़ियामत की घड़ी का भूकम्प बड़ी भयानक चीज़ है

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَ
जिस दिन
تَرَوْنَهَا
तुम देखोगे उसे
تَذْهَلُ
ग़ाफ़िल हो जाएगी
كُلُّ
हर
مُرْضِعَةٍ
दूध पिलाने वाली
عَمَّآ
उससे जिसे
أَرْضَعَتْ
उसने दूध पिलाया था
وَتَضَعُ
और गिरा देगी
كُلُّ
हर
ذَاتِ
हमल वाली
حَمْلٍ
हमल वाली
حَمْلَهَا
हमल अपना
وَتَرَى
और आप देखेंगे
ٱلنَّاسَ
लोगों को
سُكَٰرَىٰ
नशे में
وَمَا
हालाँकि नहीं (होंगे)
هُم
वो
بِسُكَٰرَىٰ
नशे में
وَلَٰكِنَّ
और लेकिन
عَذَابَ
अज़ाब
ٱللَّهِ
अल्लाह का
شَدِيدٌ
बहुत सख़्त है

Yawma tarawnaha tathhalu kullu murdi'atin 'amma arda'at watada'u kullu thati hamlin hamlaha watara alnnasa sukara wama hum bisukara walakinna 'athaba Allahi shadeedun

जिस जिन तुम उसे देखोगे, हाल यह होगा कि प्रत्येक दूध पिलानेवाली अपने दूध पीते बच्चे को भूल जाएगी और प्रत्येक गर्भवती अपना गर्भभार रख देगी। और लोगों को तुम नशे में देखोगे, हालाँकि वे नशे में न होंगे, बल्कि अल्लाह की यातना है ही बड़ी कठोर चीज़

Tafseer (तफ़सीर )
وَمِنَ
और लोगों में से कोई है
ٱلنَّاسِ
और लोगों में से कोई है
مَن
जो
يُجَٰدِلُ
झगड़ता है
فِى
अल्लाह ( के बारे ) में
ٱللَّهِ
अल्लाह ( के बारे ) में
بِغَيْرِ
बग़ैर
عِلْمٍ
इल्म के
وَيَتَّبِعُ
और वो पैरवी करता है
كُلَّ
हर
شَيْطَٰنٍ
शैतान
مَّرِيدٍ
सरकश की

Wamina alnnasi man yujadilu fee Allahi bighayri 'ilmin wayattabi'u kulla shaytanin mareedin

लोगों में कोई ऐसा भी है, जो ज्ञान के बिना अल्लाह के विषय में झगड़ता है और प्रत्येक सरकश शैतान का अनुसरण करता है

Tafseer (तफ़सीर )
كُتِبَ
लिख दिया गया
عَلَيْهِ
उस पर
أَنَّهُۥ
कि बेशक वो
مَن
जो कोई
تَوَلَّاهُ
दोस्त बनाएगा उसे
فَأَنَّهُۥ
तो बेशक वो
يُضِلُّهُۥ
वो भटका देगा उसे
وَيَهْدِيهِ
और वो रहनुमाई करेगा उसकी
إِلَىٰ
तरफ़ अज़ाबे
عَذَابِ
तरफ़ अज़ाबे
ٱلسَّعِيرِ
दोज़ख़ के

Kutiba 'alayhi annahu man tawallahu faannahu yudilluhu wayahdeehi ila 'athabi alssa'eeri

जबकि उसके लिए लिख दिया गया है कि जो उससे मित्रता का सम्बन्ध रखेगा उसे वह पथभ्रष्ट करके रहेगा और उसे दहकती अग्नि की यातना की ओर ले जाएगा

Tafseer (तफ़सीर )
يَٰٓأَيُّهَا
ٱلنَّاسُ
लोगो
إِن
अगर
كُنتُمْ
हो तुम
فِى
किसी शक में
رَيْبٍ
किसी शक में
مِّنَ
दोबारा जी उठने से
ٱلْبَعْثِ
दोबारा जी उठने से
فَإِنَّا
तो बेशक हम
خَلَقْنَٰكُم
पैदा किया हमने तुम्हें
مِّن
मिट्टी से
تُرَابٍ
मिट्टी से
ثُمَّ
फिर
مِن
नुत्फ़े से
نُّطْفَةٍ
नुत्फ़े से
ثُمَّ
फिर
مِنْ
जमे हुए ख़ून से
عَلَقَةٍ
जमे हुए ख़ून से
ثُمَّ
फिर
مِن
गोश्त की बोटी से
مُّضْغَةٍ
गोश्त की बोटी से
مُّخَلَّقَةٍ
शक्ल वाली
وَغَيْرِ
और बग़ैर
مُخَلَّقَةٍ
शक्ल वाली
لِّنُبَيِّنَ
ताकि हम वाज़ेह करें
لَكُمْۚ
तुम्हारे लिए
وَنُقِرُّ
और हम ठहराते हैं
فِى
रहमों में
ٱلْأَرْحَامِ
रहमों में
مَا
जिसको
نَشَآءُ
हम चाहते हैं
إِلَىٰٓ
मुक़र्रराह मुद्दत तक
أَجَلٍ
मुक़र्रराह मुद्दत तक
مُّسَمًّى
मुक़र्रराह मुद्दत तक
ثُمَّ
फिर
نُخْرِجُكُمْ
हम निकालते हैं तुम्हें
طِفْلًا
बच्चा बना कर
ثُمَّ
फिर
لِتَبْلُغُوٓا۟
ताकि तुम पहुँचो
أَشُدَّكُمْۖ
अपनी जवानी को
وَمِنكُم
और तुम में से कोई है
مَّن
जो
يُتَوَفَّىٰ
फ़ौत किया जाता है
وَمِنكُم
और तुम में से कोई है
مَّن
जो
يُرَدُّ
लौटाया जाता है
إِلَىٰٓ
तरफ़
أَرْذَلِ
नाकारा
ٱلْعُمُرِ
उम्र के
لِكَيْلَا
ताकि ना
يَعْلَمَ
वो जाने
مِنۢ
बाद
بَعْدِ
बाद
عِلْمٍ
जानने के
شَيْـًٔاۚ
कुछ भी
وَتَرَى
और आप देखते हैं
ٱلْأَرْضَ
ज़मीन को
هَامِدَةً
ख़ुश्क
فَإِذَآ
तो जब
أَنزَلْنَا
उतारते हैं हम
عَلَيْهَا
उस पर
ٱلْمَآءَ
पानी
ٱهْتَزَّتْ
वो तरो ताज़ा हो जाती है
وَرَبَتْ
और वो उभर आती है
وَأَنۢبَتَتْ
और वो उगाती है
مِن
हर क़िस्म के
كُلِّ
हर क़िस्म के
زَوْجٍۭ
हर क़िस्म के
بَهِيجٍ
रौनक़ वाले (पौधे)

Ya ayyuha alnnasu in kuntum fee raybin mina alba'thi fainna khalaqnakum min turabin thumma min nutfatin thumma min 'alaqatin thumma min mudghatin mukhallaqatin waghayri mukhallaqatin linubayyina lakum wanuqirru fee alarhami ma nashao ila ajalin musamman thumma nukhrijukum tiflan thumma litablughoo ashuddakum waminkum man yutawaffa waminkum man yuraddu ila arthali al'umuri likayla ya'lama min ba'di 'ilmin shayan watara alarda hamidatan faitha anzalna 'alayha almaa ihtazzat warabat waanbatat min kulli zawjin baheejin

ऐ लोगो! यदि तुम्हें दोबारा जी उठने के विषय में कोई सन्देह हो तो देखो, हमने तुम्हें मिट्टी से पैदा किया, फिर वीर्य से, फिर लोथड़े से, फिर माँस की बोटी से जो बनावट में पूर्ण दशा में भी होती है और अपूर्ण दशा में भी, ताकि हम तुमपर स्पष्ट कर दें और हम जिसे चाहते है एक नियत समय तक गर्भाशयों में ठहराए रखते है। फिर तुम्हें एक बच्चे के रूप में निकाल लाते है। फिर (तुम्हारा पालन-पोषण होता है) ताकि तुम अपनी युवावस्था को प्राप्त हो और तुममें से कोई तो पहले मर जाता है और कोई बुढ़ापे की जीर्ण अवस्था की ओर फेर दिया जाता है जिसके परिणामस्वरूप, जानने के पश्चात वह कुछ भी नहीं जानता। और तुम भूमि को देखते हो कि सूखी पड़ी है। फिर जहाँ हमने उसपर पानी बरसाया कि वह फबक उठी और वह उभर आई और उसने हर प्रकार की शोभायमान चीज़े उगाई

Tafseer (तफ़सीर )
ذَٰلِكَ
ये
بِأَنَّ
बवजह इसके कि
ٱللَّهَ
अल्लाह
هُوَ
वो ही
ٱلْحَقُّ
हक़ है
وَأَنَّهُۥ
और बेशक वो
يُحْىِ
वो ज़िन्दा करता है
ٱلْمَوْتَىٰ
मुर्दों को
وَأَنَّهُۥ
और बेशक वो
عَلَىٰ
ऊपर
كُلِّ
हर
شَىْءٍ
चीज़ के
قَدِيرٌ
ख़ूब क़ुदरत वाला है

Thalika bianna Allaha huwa alhaqqu waannahu yuhyee almawta waannahu 'ala kulli shayin qadeerun

यह इसलिए कि अल्लाह ही सत्य है और वह मुर्दों को जीवित करता है और उसे हर चीज़ की सामर्थ्य प्राप्ती है

Tafseer (तफ़सीर )
وَأَنَّ
और बेशक
ٱلسَّاعَةَ
क़यामत
ءَاتِيَةٌ
आने वाली है
لَّا
नहीं कोई शक
رَيْبَ
नहीं कोई शक
فِيهَا
इसमें
وَأَنَّ
और बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
يَبْعَثُ
दोबारा उठाएगा
مَن
उन्हें जो
فِى
क़ब्रों में हैं
ٱلْقُبُورِ
क़ब्रों में हैं

Waanna alssa'ata atiyatun la rayba feeha waanna Allaha yab'athu man fee alquboori

और यह कि क़ियामत की घड़ी आनेवाली है, इसमें कोई सन्देह नहीं है। और यह कि अल्लाह उन्हें उठाएगा जो क़ब्रों में है

Tafseer (तफ़सीर )
وَمِنَ
और लोगों में से कोई है
ٱلنَّاسِ
और लोगों में से कोई है
مَن
जो
يُجَٰدِلُ
झगड़ता है
فِى
अल्लाह के बारे में
ٱللَّهِ
अल्लाह के बारे में
بِغَيْرِ
बग़ैर
عِلْمٍ
इल्म के
وَلَا
और बग़ैर
هُدًى
हिदायत के
وَلَا
और बग़ैर
كِتَٰبٍ
किताबे
مُّنِيرٍ
रौशन के

Wamina alnnasi man yujadilu fee Allahi bighayri 'ilmin wala hudan wala kitabin muneerin

और लोगों मे कोई ऐसा है जो किसी ज्ञान, मार्गदर्शन और प्रकाशमान किताब के बिना अल्लाह के विषय में (घमंड से) अपने पहलू मोड़ते हुए झगड़ता है,

Tafseer (तफ़सीर )
ثَانِىَ
मोड़ने वाला है
عِطْفِهِۦ
शाना अपना
لِيُضِلَّ
ताकि वो भटका दे
عَن
अल्लाह के रास्ते से
سَبِيلِ
अल्लाह के रास्ते से
ٱللَّهِۖ
अल्लाह के रास्ते से
لَهُۥ
उसके लिए है
فِى
दुनिया में
ٱلدُّنْيَا
दुनिया में
خِزْىٌۖ
रुस्वाई
وَنُذِيقُهُۥ
और हम चखाऐंगे उसे
يَوْمَ
दिन
ٱلْقِيَٰمَةِ
क़यामत के
عَذَابَ
अज़ाब
ٱلْحَرِيقِ
आग का

Thaniya 'itfihi liyudilla 'an sabeeli Allahi lahu fee alddunya khizyun wanutheequhu yawma alqiyamati 'athaba alhareeqi

ताकि अल्लाह के मार्ग से भटका दे। उसके लिए दुनिया में भी रुसवाई है और क़ियामत के दिन हम उसे जलने की यातना का मज़ा चखाएँगे

Tafseer (तफ़सीर )
ذَٰلِكَ
ये
بِمَا
बवजह उसके जो
قَدَّمَتْ
आगे भेजा
يَدَاكَ
तेरे दोनों हाथों ने
وَأَنَّ
और बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
لَيْسَ
नहीं है
بِظَلَّٰمٍ
ज़ुल्म करने वाला
لِّلْعَبِيدِ
बन्दों पर

Thalika bima qaddamat yadaka waanna Allaha laysa bithallamin lil'abeedi

(कहा जाएगा,) यह उसके कारण है जो तेरे हाथों ने आगे भेजा था और इसलिए कि अल्लाह बन्दों पर तनिक भी ज़ुल्म करनेवाला नहीं

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-हज
القرآن الكريم:الحج
आयत सजदा (سجدة):18,77
सूरा (latin):Al-Hajj
सूरा:22
कुल आयत:78
कुल शब्द:1291
कुल वर्ण:5570
रुकु:10
वर्गीकरण:मदीनन सूरा
Revelation Order:103
से शुरू आयत:2595