Skip to main content
bismillah
ٱلْحَمْدُ
सब तारीफ़
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए है
ٱلَّذِى
वो जो
لَهُۥ
उसी के लिए है
مَا
जो कुछ
فِى
आसमानों में है
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में है
وَمَا
और जो कुछ
فِى
ज़मीन में है
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में है
وَلَهُ
और उसी के लिए है
ٱلْحَمْدُ
सब तारीफ़
فِى
आख़िरत में
ٱلْءَاخِرَةِۚ
आख़िरत में
وَهُوَ
और वो
ٱلْحَكِيمُ
ख़ूब हिकमत वाला है
ٱلْخَبِيرُ
ख़ूब बाख़बर है

Alhamdu lillahi allathee lahu ma fee alssamawati wama fee alardi walahu alhamdu fee alakhirati wahuwa alhakeemu alkhabeeru

प्रशंसा अल्लाह ही के लिए है जिसका वह सब कुछ है जो आकाशों और धरती में है। और आख़िरत में भी उसी के लिए प्रशंसा है। और वही तत्वदर्शी, ख़बर रखनेवाला है

Tafseer (तफ़सीर )
يَعْلَمُ
वो जानता है
مَا
जो कुछ
يَلِجُ
दाख़िल होता है
فِى
ज़मीन में
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
وَمَا
और जो कुछ
يَخْرُجُ
निकलता है
مِنْهَا
उससे
وَمَا
और जो कुछ
يَنزِلُ
उतरता है
مِنَ
आसमान से
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
وَمَا
और जो कुछ
يَعْرُجُ
चढ़ता है
فِيهَاۚ
उसमें
وَهُوَ
और वो
ٱلرَّحِيمُ
निहायत रहम करने वाला है
ٱلْغَفُورُ
बहुत बख़्शने वाला है

Ya'lamu ma yaliju fee alardi wama yakhruju minha wama yanzilu mina alssamai wama ya'ruju feeha wahuwa alrraheemu alghafooru

वह जानता है जो कुछ धरती में प्रविष्ट होता है और जो कुथ उससे निकलता है और जो कुछ आकाश से उतरता है और जो कुछ उसमें चढ़ता है। और वही अत्यन्त दयावान, क्षमाशील है

Tafseer (तफ़सीर )
وَقَالَ
और कहा
ٱلَّذِينَ
उन लोगों ने जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
لَا
नहीं आएगी हम पर
تَأْتِينَا
नहीं आएगी हम पर
ٱلسَّاعَةُۖ
क़यामत
قُلْ
कह दीजिए
بَلَىٰ
क्यों नहीं
وَرَبِّى
क़सम है मेरे रब की
لَتَأْتِيَنَّكُمْ
अलबत्ता वो ज़रूर आएगी तुम्हारे पास
عَٰلِمِ
जानने वाला है
ٱلْغَيْبِۖ
ग़ैब का
لَا
नहीं छुपा हुआ
يَعْزُبُ
नहीं छुपा हुआ
عَنْهُ
उससे
مِثْقَالُ
बराबर
ذَرَّةٍ
एक ज़र्रे के
فِى
आसमानों में
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में
وَلَا
और ना
فِى
ज़मीन में
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
وَلَآ
और ना
أَصْغَرُ
छोटा
مِن
उससे
ذَٰلِكَ
उससे
وَلَآ
और ना
أَكْبَرُ
बड़ा
إِلَّا
मगर
فِى
एक वाज़ेह किताब में है
كِتَٰبٍ
एक वाज़ेह किताब में है
مُّبِينٍ
एक वाज़ेह किताब में है

Waqala allatheena kafaroo la tateena alssa'atu qul bala warabbee latatiyannakum 'alimi alghaybi la ya'zubu 'anhu mithqalu tharratin fee alssamawati wala fee alardi wala asgharu min thalika wala akbaru illa fee kitabin mubeenin

जिन लोगों ने इनकार किया उनका कहना है कि 'हमपर क़ियामत की घड़ी नहीं आएगी।' कह दो, 'क्यों नहीं, मेरे परोक्ष ज्ञाता रब की क़सम! वह तो तुमपर आकर रहेगी - उससे कणभर भी कोई चीज़ न तो आकाशों में ओझल है और न धरती में, और न इससे छोटी कोई चीज़ और न बड़ी। किन्तु वह एक स्पष्ट किताब में अंकित है। -

Tafseer (तफ़सीर )
لِّيَجْزِىَ
ताकि वो बदला दे
ٱلَّذِينَ
उनको जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
ٱلصَّٰلِحَٰتِۚ
नेक
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
لَهُم
उनके लिए
مَّغْفِرَةٌ
बख़्शिश
وَرِزْقٌ
और रिज़्क़ है
كَرِيمٌ
इज़्ज़त वाला

Liyajziya allatheena amanoo wa'amiloo alssalihati olaika lahum maghfiratun warizqun kareemun

'ताकि वह उन लोगों को बदला दे, जो ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए। वहीं है जिनके लिए क्षमा और प्रतिष्ठामय आजीविका है

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلَّذِينَ
और वो जिन्होंने
سَعَوْ
कोशिश की
فِىٓ
हमारी आयात में
ءَايَٰتِنَا
हमारी आयात में
مُعَٰجِزِينَ
इस हाल में कि आजिज़ करने वाले हैं
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
لَهُمْ
उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
مِّن
सख़्ती का
رِّجْزٍ
सख़्ती का
أَلِيمٌ
दर्दनाक

Waallatheena sa'aw fee ayatina mu'ajizeena olaika lahum 'athabun min rijzin aleemin

'रहे वे लोग जिन्होंने हमारी आयतों को मात करने का प्रयास किया, वह है जिनके लिए बहुत ही बुरे प्रकार की दुखद यातना है।'

Tafseer (तफ़सीर )
وَيَرَى
और देखते हैं
ٱلَّذِينَ
वो जो
أُوتُوا۟
दिए गए
ٱلْعِلْمَ
इल्म
ٱلَّذِىٓ
कि जो
أُنزِلَ
नाज़िल किया गया
إِلَيْكَ
आपकी तरफ़
مِن
आपके रब की तरफ़ से
رَّبِّكَ
आपके रब की तरफ़ से
هُوَ
वो ही
ٱلْحَقَّ
हक़ है
وَيَهْدِىٓ
और वो रहनुमाई करता है
إِلَىٰ
तरफ़ रास्ते के
صِرَٰطِ
तरफ़ रास्ते के
ٱلْعَزِيزِ
बहुत ज़बरदस्त
ٱلْحَمِيدِ
ख़ूब तारीफ़ वाले के

Wayara allatheena ootoo al'ilma allathee onzila ilayka min rabbika huwa alhaqqa wayahdee ila sirati al'azeezi alhameedi

जिन लोगों को ज्ञान प्राप्त हुआ है वे स्वयं देखते है कि जो कुछ तुम्हारे रब की ओर से तुम्हारी ओर अवतरित हुआ है वही सत्य है, और वह उसका मार्ग दिखाता है जो प्रभुत्वशाली, प्रशंसा का अधिकारी है

Tafseer (तफ़सीर )
وَقَالَ
और कहा
ٱلَّذِينَ
उन लोगों ने जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
هَلْ
क्या
نَدُلُّكُمْ
हम बताऐं तुम्हें
عَلَىٰ
ऐसा शख़्स
رَجُلٍ
ऐसा शख़्स
يُنَبِّئُكُمْ
जो ख़बर देता है तुम्हें
إِذَا
जब
مُزِّقْتُمْ
रेज़ह-रेज़ह कर दिए जाओगे तुम
كُلَّ
पूरी तरह
مُمَزَّقٍ
रेज़ह-रेज़ह किया जाना
إِنَّكُمْ
बेशक तुम
لَفِى
अलबत्ता पैदाइश में होगे
خَلْقٍ
अलबत्ता पैदाइश में होगे
جَدِيدٍ
नई

Waqala allatheena kafaroo hal nadullukum 'ala rajulin yunabbiokum itha muzziqtum kulla mumazzaqin innakum lafee khalqin jadeedin

जिन लोगों ने इनकार किया वे कहते है कि 'क्या हम तुम्हें एक ऐसा आदमी बताएँ जो तुम्हें ख़बर देता है कि जब तुम बिलकुल चूर्ण-विचूर्ण हो जाओगे तो तुम नवीन काय में जीवित होगे?'

Tafseer (तफ़सीर )
أَفْتَرَىٰ
क्या उसने गढ़ लिया
عَلَى
अल्लाह पर
ٱللَّهِ
अल्लाह पर
كَذِبًا
झूठ
أَم
या
بِهِۦ
उसे
جِنَّةٌۢۗ
कोई जुनून है
بَلِ
बल्कि
ٱلَّذِينَ
वो जो
لَا
नहीं वो ईमान लाते
يُؤْمِنُونَ
नहीं वो ईमान लाते
بِٱلْءَاخِرَةِ
आख़िरत पर
فِى
अज़ाब में
ٱلْعَذَابِ
अज़ाब में
وَٱلضَّلَٰلِ
और गुमराही में हैं
ٱلْبَعِيدِ
दूर की

Aftara 'ala Allahi kathiban am bihi jinnatun bali allatheena la yuminoona bialakhirati fee al'athabi waalddalali alba'eedi

क्या उसने अल्लाह पर झूठ घड़कर थोपा है, या उसे कुछ उन्माद है? नहीं, बल्कि जो लोग आख़िरत पर ईमान नहीं रखते वे यातना और परले दरजे की गुमराही में हैं

Tafseer (तफ़सीर )
أَفَلَمْ
क्या भला नहीं
يَرَوْا۟
उन्होंने देखा
إِلَىٰ
उसकी तरफ़ जो
مَا
उसकी तरफ़ जो
بَيْنَ
उनके सामने है
أَيْدِيهِمْ
उनके सामने है
وَمَا
और जो
خَلْفَهُم
उनके पीछे है
مِّنَ
आसमान से
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
وَٱلْأَرْضِۚ
और ज़मीन से
إِن
अगर
نَّشَأْ
हम चाहें
نَخْسِفْ
हम धँसा दें
بِهِمُ
उन्हें
ٱلْأَرْضَ
ज़मीन में
أَوْ
या
نُسْقِطْ
हम गिरा दें
عَلَيْهِمْ
उन पर
كِسَفًا
कुछ टुकड़े
مِّنَ
आसमान से
ٱلسَّمَآءِۚ
आसमान से
إِنَّ
बेशक
فِى
उसमें
ذَٰلِكَ
उसमें
لَءَايَةً
अलबत्ता एक निशानी है
لِّكُلِّ
वास्ते हर
عَبْدٍ
बन्दे
مُّنِيبٍ
रुजूअ करने वाले के

Afalam yaraw ila ma bayna aydeehim wama khalfahum mina alssamai waalardi in nasha nakhsif bihimu alarda aw nusqit 'alayhim kisafan mina alssamai inna fee thalika laayatan likulli 'abdin muneebin

क्या उन्होंने आकाश और धरती को नहीं देखा, जो उनके आगे भी है और उनके पीछे भी? यदि हम चाहें तो उन्हें धरती में धँसा दें या उनपर आकाश से कुछ टुकड़े गिरा दें। निश्चय ही इसमें एक निशानी है हर उस बन्दे के लिए जो रुजू करनेवाला हो

Tafseer (तफ़सीर )
وَلَقَدْ
और अलबत्ता तहक़ीक़
ءَاتَيْنَا
दिया हमने
دَاوُۥدَ
दाऊद को
مِنَّا
अपने पास से
فَضْلًاۖ
फ़ज़ल
يَٰجِبَالُ
ऐ पहाड़ो
أَوِّبِى
तस्बीह(दोहराओ)
مَعَهُۥ
साथ उसके
وَٱلطَّيْرَۖ
और परिन्दों को(भी)
وَأَلَنَّا
और नर्म किया हमने
لَهُ
उसके लिए
ٱلْحَدِيدَ
लोहा

Walaqad atayna dawooda minna fadlan ya jibalu awwibee ma'ahu waalttayra waalanna lahu alhadeeda

हमने दाऊद को अपनी ओर से श्रेष्ठ ता प्रदान की, 'ऐ पर्वतों! उसके साथ तसबीह को प्रतिध्वनित करो, और पक्षियों तुम भी!' और हमने उसके लिए लोहे को नर्म कर दिया

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
सबा
القرآن الكريم:سبإ
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Saba'
सूरा:34
कुल आयत:54
कुल शब्द:833
कुल वर्ण:1512
रुकु:6
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:58
से शुरू आयत:3606